राजस्थान की जनसँख्या की जानकारी 2021

0
61
Rajasthan ki Jankari

आज हम राजस्थान के बारे में सम्पूर्ण जानकारी आपको बहुत सरल शब्दों में बताने जा रहे है हमारी कोशिश है की हम आपको राजस्थान के बारे में पूरी जानकारी प्रदान कराये। राजस्थान अपने आप में बहुत से विधावो, कला, संस्कृति, अनुपम एवं मनोरम नज़ारों से परिपूर्ण है जिसके कारण राजस्थान पर्यटक के रूप में बहुत विघ्यात है राजस्थान गर्म प्रदेश के रूम में भी जाना जाता है।

राजस्थान का शाब्दिक अर्थ – राजावो का स्थान, यहाँ पर बहुत ही बड़े – बड़े और सुर वीर राजावो ने जन्म लिया है और अपना राज्य बहुत लम्बे समय तक चलाया है।

राजस्थान भारत के राज्यों में चेत्रफल की दृष्टिकोण से सबसे बड़ा राज्य है राज्य का क्षेत्रफल 3,42,239 वर्ग कि॰मी॰ (132139 वर्ग मील) है यहाँ की मुख्य भाषा राजस्थानी है जिसका एक रूप हम आपको बता दे – पधारो मारो देश रे हमेशा आपको कही न कही पड़ने को मिल जाएगा।

राजस्थान का पहनावा भी बहुत ही सुंदर है जो लोगों को आकर्षित करती है राजस्थान का केवलादेव राष्ट्रीय उधान को सन 1885 में यूनेस्को द्वारा विस्व धरोहर के रूप में स्थान मिला है जोकि भारत के लिए बहुत ही गौरव की बात है।

राजस्थान के ज़िले के विषय में 

राजस्थान में वर्तमान जिलों की संख्या 33 है सभी ज़िलों के बारे में बताने के पूर्व की स्थिति से अवगत हों जाते है जिससे समझने में आसानी हो उसके बाद एक एक कर सभी जिलों का विस्तार पूर्वक समझेंगे :-

भारत की आज़ादी के समय राजस्थान में 25 ज़िले हुआ करता था जब भारत का एकीकरण किया गया तो एक नवंबर 1956 को एक नए ज़िले के रूप में अजमेर को बनाया गया।

जिलों के नाम –

  1. जयपुर
  2. अलवर 
  3. उदयपुर 
  4. करौली
  5. कोटा 
  6. गंगानगर
  7. चितौड़गढ़ 
  8. चुरू
  9. अजमेर 
  10. जालोर
  11. जैसलमेर
  12. जोधपुर
  13. झालावाड़
  14. झुंझुनूं 
  15. टोंक
  16. डूंगरपुर
  17. दौसा 
  18. धौलपुर 
  19. नागौर पाली 
  20. प्रतापगढ़
  21. बरन
  22. बांसवाड़ा
  23. बाड़मेर
  24. बीकानेर
  25. बूंदी
  26. भरतपुर
  27. भीलवाड़ा
  28. राजसमंद
  29. सवाई माधोपुर
  30. सिरोही
  31. सीकर 
  32. हनुमानगढ़

जयपुर – जयपुर अपनी समृद्ध भवन निर्माण-परंपरा, सरस-संस्कृति और ऐतिहासिक महत्व के लिए बहुत ही प्रसिद्ध है जयपुर की स्थापना आमेर के महाराजा सवाई जयसिंह ने करवाई थी जयपुर का पुराना नाम जयनगर था जिसे बाद में बदलकर जयपुर किया गया।

जयपुर राजस्थान का सबसे बड़ा शहर है और यह राजस्थान की राजधानी भी है जोकि सन 1956 को बनाया गया जयपुर भारत के टूरिस्ट सर्किट गोल्डन ट्रायंगल का हिस्सा भी है जयपुर का क्षेत्रफल 3,42,239 वर्ग कि॰मी॰ (132139 वर्ग मील) हैं।

जयपुर को भारत का पेरिस भी कहा जाता है इस शहर के वास्तु के बारे में कहा जाता है कि शहर को सूत से नाप लीजिये नाप-जोख में एक बाल के बराबर भी फ़र्क नहीं होता है। केवलादेव राष्ट्र उद्यान जिसके बारे में हमने आपको बताया है वह जयपुर राज्य में ही स्थित है।

इंग्लैंड की महारानी एलिजाबेथ प्रिंस ऑफ वेल्स Prince अल्बर्ट के स्वागत के लिए पूरे जयपुर शहर को गुलाबी रंग से रंगवा दिया था उसी दिन जयपुर को गुलाबी नगर के नाम से भी जाना जाने लगा।

सन 2011 के जनगढ़ना के अनुसार जयपुर की जनसंख्या 6626178 थी लिंगानुपात के बारे में समझे तो प्रति पुरूष के अपेक्षा स्त्रियों की संख्या से है जयपुर का लिंगानुपात 961 है वर्तमान जनसंख्या “ 7685041” आंकी गई है जयपुर में लगभग 86.1 प्रतिशत लोग शिक्षित है वर्तमान में जयपुर में जनसंख्या वृद्धि दर लगभग 2.54 प्रतिशत आंकी गई है ।

अलवर ज़िला – अलवर ज़िला राजधानी जयपुर से 170 की . मी. की दूरी में स्थित है यह ज़िला अरावली पहाड़ी के मध्य में बसा है ज़िले का क्षेत्रफल 8380 प्रति वर्ग की.मी. फैला हुआ है जिसकी आकृति चौकोर है ज़िले से 150 की. मी. की दूरी में मथुरा , वृन्धवान , गोवर्धन स्थित है।

जिसके कारण यहाँ की बोली में कुछ अंतर देखने को मिलता है पूर्व में ब्रिजभाषा, पश्चिम में मारवाड़ी, उत्तर में मेवाती एवं दक्षिण में ठूठारी बोली का परचलन है।

अलवर ज़िला का इतिहास महाभारत काल से भी पुराना बताया जाता है ज़िले से लगभग अलवर का कुछ प्राचीन नाम है को समय के साथ बदलते गए, मत्सय नगर , अवरलपुर, उल्वर, शालपुर, हलवार जब देश आज़ाद हुआ तो अलवर राज्य का राजा एच. एच. महाराज सर तेजसिंह थे सन 7 अप्रेल 1949 को विलय पत्र में हस्ताक्षर करने के बाद यह रियासत भारत का हिस्सा बन गया।

सन 2021 में अलवर ज़िले की अनुमानित जनसंख्या 4261313 है जिसमें पुरुष 224882 स्त्री 2012431 है ज़िले में 70.72 प्रतिशत लोग शिक्षित है अलवर ज़िले में लिंगानुपात 895 है।

>PUBG Mobile इंडिया में डाउनलोड कैसे करे

>Sbi Credit Card बंद कैसे करे जानकारी

>T Series का मालिक कौन है

>2 अगस्त को क्या है

>3 अगस्त को क्या है

अलवर ज़िले की एक कहानी बहुत ही प्रसिद्ध है जिसे संक्षिप्त में आपको बता रहे है अलवर के तत्कालीन राजा जयसिंह लंदन में शाम के समय टहल रहे थे उस समय वह साधारण कपड़ों में थे और लंदन की बहुत बड़ी कम्पनी राल्स रायल के शोरूम में चले गए वहाँ के सेल्स मेन ने राजा जी को भगा दिया।

उसके बाद क्या था राजा जी ने वहाँ 6 गाड़ियाँ खड़ी थी सबको भारत लाकर नगर के कचरे उठाने के काम लगा दिया जिससे कम्पनी की बहुत बदनामी हुई और राजा जी से माफ़ी भी माँगनी पड़ी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here