IPL का Full From क्या है पूरी जानकारी

0
91
IPL ka full form

चौके छक्के, शानदार पारियां, झूमती हुई जनता, बेमिसाल मनोरंजन और ग्लैमर से भरा हुआ खेल यही पहचान है IPL की। IPL शुरुआत से ही लोगों का पसंदीदा खेल बना हुआ है। जब यह शुरू होने वाला होता है तो लोग अपना सारा काम मैच शुरू होने से पहले ही खत्म कर देते हैं। IPL अप्रैल और मई के महीने में हर साल आयोजित किया जाता है। अगर आप क्रिकेट के प्रसंसक हैं तो जरूर खेल से वाकिफ़ होंगे।

IPL क्या है?

IPL विश्व क्रिकेट के T-20 फॉर्मेट का सबसे बड़ा टूर्नामेंट है। इसका पूरा नाम इंडियन क्रिकेट लीग है। जिसे संक्षेप में IPL कहते हैं। इसकी शुरुआत 2008 में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के तत्कालिक अध्यक्ष ललित मोदी के नेतृत्व में हुई थी।

IPL का इतिहास

दरअसल 2007 में सबसे पहले ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज ने ICL यानी इंडियन क्रिकेट लीग के नाम से T20 लीग की शुरुआत की थी, लेकिन इसे मान्यता नहीं दी और इस में खेलने वाले खिलाड़ियों को भी प्रतिबंधित करने की चेतावनी तक दी गई। बहरहाल 2017 में बीसीसीआई ने फ्रेंचाइजी पर आधारित IPL की घोषणा की। सबसे पहले फ्रेंचाइजी के द्वारा 8 शहरों की टीम पर बोली लगाई गई, जीसके तहत बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली, हैदराबाद, जयपुर, कोलकाता, मोहाली और मुंबई की टीम को खरीदा गया। टीम की बोली लगने के बाद खिलाड़ियों की बोली लगाई गई और हर टीम ने अपने अपने पसंद के हिसाब से खिलाड़ियों को खरीदा। सारी प्रक्रिया खत्म होने के बाद 8 टीमों को अपना जलवा दिखाने का मौका मिला।

IPL कि शुरुआत

पहला सीजन 2008 –:

IPL का पहला सीज़न। 18 अप्रैल 2008 से शुरू हुआ और इसके साथ ही क्रिकेट में नए युग की शुरुआत हो गई। आईपीएल का पहला सीज़न बहुत ही सफल रहा। इसकी सफलता का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि पहले सीज़न में कुल 34,22,000 लोगों ने स्टेडियम में जाकर मैच देखा। यह भारतीय क्रिकेट के इतिहास का सबसे बड़ा टूर्नामेंट बन गया जिसमें इतनी बड़ी संख्या में दर्शकों ने स्टेडियम में जाकर मैच देखा। 

राजस्थान रॉयल्स ने पहले सीजन का ख़िताब अपने नाम किया। इस सीज़न में ऑस्ट्रेलिया के शॉन मार्श ने 616 रन बनाए और पूरे टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे। वहीं पाकिस्तानी क्रिकेटर सोहेल तनवीर सबसे ज्यादा 22 विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज रहे।

दूसरा सीजन 2009 -:

2009 में यह लीग भारत के बजाय विदेशी जमीन पर साउथ अफ्रीका में कराया गया। आईपीएल के दूसरे सीज़न को देक्कन चार्जर ने जीता। इस टूर्नामेंट को टीवी पर लगभग 200 मिलियन लोगों ने देखकर एक बहुत बड़ा रिकॉर्ड बनाया। इस सीज़न में मैथ्यू हेडन 572 रन बनाकर सबसे सफलतम बल्लेबाज रहे वहीं आर.पी. सिंह 23 विकेट के साथ सफलतम गेंदबाज रहे।

तीसरा सीजन 2010 -:

आईपीएल का तीसरा सीज़न वापस से भारत में आयोजित किया गया। इस सीज़न को चेन्नई सुपर किंग्स ने जीता। इस टूर्नामेंट को पहली बार यू ट्यूब पर लाइव दिखाया गया। इस सीजन के अंतिम के कुछ मैचों को थिएटर में भी दिखाया गया, लोगों ने इसे बहुत पसंद किया और यह योजना भी पूरी तरह कामयाब रहा। इस पूरे टूर्नामेंट में सचिन तेन्दुलकर 616 रन बनाकर टूर्नामेंट के सबसे कामयाब बल्लेबाज रहे, वहीं प्रज्ञान ओझा 21 विकेट के साथ सबसे सफल गेंदबाज साबित हुए।

चौथा सीजन 2011 -:

इस सीज़न को चेन्नई सुपरकिंग्स से लगातार दूसरी बार जीतकर खिताब अपने नाम किया है। इस सीज़न में दो नई टीम पूणे वारियर्स इंडिया औऱ कोच्चि टस्कर्स शामिल हुई और टीमों कुल संख्या 10 पहुँच गई। क्रिस गेल 608 रन बनाकर सबसे सफल बल्लेबाज रहे, वहीं लसिथ मलिंगा 28 विकेट के साथ सबसे कामयाब गेंदबाज रहे।

पाँचवा सीजन 2012 -:

पांचवें सीज़न में कोच्ची को सस्पेंड कर दिया गया, जिससे टीमों की संख्या नौ रह गयी। इस सीज़न कोलकाता नाइट राइडर्स ने खिताब अपने नाम किया। क्रिस गेल 733 रन बनाकर टूर्नामेंट के सबसे कामयाब बल्लेबाज रहे, वहीं मोर्ने मोर्केल 25  विकेट के साथ सबसे सफल गेंदबाज रहे।

छठा सीजन 2013 -:

2013 के छठे सीज़न को मुंबई इंडियंस ने खिताब जीता। इस साल डेक्कन चार्जर्स को भी सस्पेंड कर दिया गया। और सनराइजर्स हैदराबाद को इसके जगह पर खेलने का मौका मिला। इस साल माइक हँसी 733 रन बनाकर सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे। वहीं ड्वेन ब्रेवो 33 विकेट के साथ सबसे कामयाब गेंदबाज रहे।

सातवाँ सीजन 2014 -:

आईपीएल के सातवें सीज़न में पुणे वॉरियर्स को निष्कासन झेलना पड़ा और दुबारा टीमों की कुल संख्या आठ हो गई। इस बार कोलकाता नाइट राइडर्स ने खिताबी बाजी मारी। रोबिन उथप्पा 660 रन बनाकर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे। वहीं मोहित शर्मा 23 विकेट के साथ टॉप गेंदबाज रहें।

आठवाँ सीजन 2015 -:

आईपीएल के आठवें सीज़न का विजेता मुंबई इंडियंस रहा। इस सीज़न डेविड वार्नर ने सबसे ज्यादा 562 रन बनाए और ड्वेन ब्रेवो 26 विकेट के साथ सबसे कामयाब गेंदबाज रहे।

नौंवा सीजन 2016 -:

आईपीएल का नौवां सीज़न राजस्थान और चेन्नई के लिए बुरा साबित हुआ, मैच फिक्सिंग के कारण। इन दोनों टीमों को 2 साल तक प्रतिबंधित प्रतिबंध का सामना करना पड़ा। इनकी जगह गुजरात लायंस और पुणे सुपरजाइंट्स को आईपीएल खेलने का मौका मिला। इस सीज़न को सनराइजर्स सनराइजर्स हैदराबाद ने अपने नाम किया। विराट कोहली 973 रन बनाकर सबसे सफलतम बल्लेबाज रहे। वहीं भुवनेश्वर कुमार 23 विकेट के साथ कामयाब गेंदबाज रहे।

दसवाँ सीजन 2017-:

IPL के दसवें सीज़न को मुंबई इंडियंस ने अपने नाम करके तीसरी बार खिताब जीता। इस सीज़न डेविड वार्नर सबसे ज्यादा 641 रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे, वहीं भुवनेश्वर कुमार 26 विकेट के साथ पर्पल कैप के हकदार बने।

ग्यारहवां सीजन 2018 -:

प्रतिबंध खत्म कर लौटकर आई चेन्नई सुपरकिंग्स ने IPL के 11 वें सीज़न को शानदार तरीके से जीता। केन विलियमसन 735 रन के साथ सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे। वहीं एंड्रू टे 24 विकेट के साथ सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे।

बारहवाँ सीजन 2019 -:

आईपीएल का 12 वां सीज़न मुंबई इंडियंस ने जीता। इस सीज़न डेविड वार्नर ने 692 रन बनाकर सर्वाधिक सफल बल्लेबाज रहे, वहीं इमरान ताहिर 26 विकेट के साथ। कामयाब गेंदबाज रहे।

तेरहवाँ सीजन 2020 -:

आईपीएल के 13 वें सीज़न को फिर मुंबई इंडियंस ने जीता। लोकेश राहुल पर्पल कैप 670 रन बनाकर सबसे सफल बल्लेबाज रहे, वहीं केगिसो रबाडा 30 विकेट के साथ सबसे सफल गेंदबाज रहे। 

IPL कि कुछ रोचक जानकारीयाँ

पर्पल कैप –:   IPL के प्रत्येक सीज़न में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज को पर्पल कैप दिया जाता है।

ऑरेंज कैप-:IPL के हर सीज़न सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी को ऑरेंज कैप दिया जाता है।

पहला शतक -: 2008 के पहले सीजन में ब्रेंडम मैकुलम ने कलकत्ता नाईट राइडर्स के तरफ से पहला शतक बनाया था।

IPL के एक सीजन में सर्वाधिक रन -: IPL के नौवें सीजन 2016 में विराट कोहली ने सबसे ज्यादा 973 रन बनाकर एक सीजन में सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया। जो अब तक नहीं टूटा।

IPL के एक सीजन में सर्वाधिक विकेट -:IPL के छठे सीजन 2013 में ड्वेन ब्रेवो 33 विकेट लिए जो जब तक के किसी भी IPL सीजन का सर्वाधिक विकेट है। 

IPL  क्रिकेट के साथ ग्लैमर

IPL में क्रिकेट के साथ ग्लैमर का तड़का आसानी से देखा जा सकता है। आप कई बार फिल्मी हस्तियों, कॉरपोरेट जगत,  फ़ैशन, गायक, राजनीतिक हस्ती, कॉमेडियन से जुड़े हस्तियों को IPL के मैच का आनंद लेते हुए स्टेडियम में देख सकते हैं। इससे IPL कि प्रसिद्धि में चार चांद लग जाते हैं।

भारतीय प्रतिभाओं को मिलता अवसर

चुकि भारत मे क्रिकेट एक प्रसिद्ध खेल है, जहाँ बड़ी संख्या में युवा अपना कैरियर इस क्षेत्र में देखते हैं। IPL उन्ही प्रतिभाओं को एक प्लेटफार्म देता है, औऱ चयनित युवाओं को अंतरास्ट्रीय खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका भी देती है। IPL मव अच्छा प्रदर्शन करने वाले कई घरेलू खिलाड़ियों को भारतीय टाइम में खेल का मौका भी मिल जाता है।

खिलाड़ियों पर होती पैसों कि बारिश 

IPL कि टीमें अपने खिलाड़ियों पर बेशूमार दौलत खर्च करती है। यही कारण है कि विदेशी खिलाड़ी भी अन्य टूर्नामेंटों से ज्यादा तरज़ीह IPL को देतें हैं। इस टूर्नामेंट में खेलने वाले खिलाड़ियों को फेंचाइजी कि तरफ से एक सीजन में करोड़ो रूपये मिलते हैं।

IPL के सबसे महंगे खिलाड़ी -:  दक्षिण अफ्रीकी ऑलराउंडर क्रिस मॉरिस आईपीएल इतिहास के सबसे महंगे खिलाड़ी हैं। 14वें सीजन की नीलामी के दौरान राजस्थान रॉयल्स ने 16.25 करोड़ रुपए में मॉरिस को अपने स्क्वाड में शामिल किया था।

IPL से टीम मालिकों को होती मोटी कमाई 

इस खेल से टीम मलिकों कि कमाई में भी भारी इज़ाफ़ा होता है। प्रसारण का अधिकार जिस चैनल को मिलता है, उसके लिए वह काफी धनराशि जमा करती है। वहीं स्पॉन्सरशिप और प्रमोशनल ऐड से भी आयोजकों को काफ़ी राशि प्राप्त होती है।

कुल मिलाकर देखा जाए तो IPL  न सिर्फ भारत का खेल रह गया है बल्कि यह एक सफल इंटरनेशनल टूर्नामेंट के रूप में उभरा है। इसकी सफलता का आकलन आप इस बात से लगा सकते हैं कि यह विश्व का छठा सबसे बड़ा और भारत का सबसे बड़ा टूर्नामेंट बन गया है। इसकी चकाचौंध दर्शकों का भरपूर मनोरंजन करतीं है। इसकी सफलता दिनों दिन बढ़ती ही जा रही है। आने वाले समय में यह निश्चित हीं नयी बुलंदियों को छुएगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here